मुख्य सूचनाएँ

भारतीय सांस्कृतिक संम्बध परिषद की ओर से 22 फरवरी को प्रयागराज आ रहे 192 देशों के मेहमानों के स्वागत की तैयारियां जोरशोर पर हैं। विदेशी मेहमानों को न सिर्फ दिव्य और भव्य कुम्भ दिखाया जाएगा बल्कि उन्हें पूरे देश की सांस्कृतिक झलक का भी दर्शन कराया जायेगा । बम्हरौली एयरपोर्ट से संगम नोज तक स्कूली बच्चें विदेशी मेहमान का स्वागत करेंगे। इसके साथ ही गंगा स्नान और गंगा पूजन के बाद सभी को अरैल मेला क्षेत्र ले जाया जाएगा, जहां पर राजनायिकों ने ध्वजारोहण किया था , वहां पर सभी अपने देश का ध्वज फहरांएगे। इसके साथ ही अक्षवट, सरस्वती कूप और हनुमान मंदिर भी दर्शन करेंगे।
कल दिनांक 07.02.2019 को पूर्वाह्न 10.00 बजे संगम नोज पर अखाड़ा परिषद के पूज्यनीय संत गंगा पूजन करने के पश्चात प्रयागराज की पंचकोशी परिक्रमा करेंगे।
श्रीमती मेनका मिश्र प्रख्यात गायिका का कार्यक्रम दिनांक 1 फरवरी को शाम 6 बजे अक्षयवट सांस्कृतिक मंच सेक्टर 4 में होगा
लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और कई अन्य महिला राजनेता, महिलाओं के सामने आने वाली समस्याओं पर विचार-विमर्श करने के लिए कुंभ मेला क्षेत्र में दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए आ रही हैं।
"समिट ऑफ ग्रेस" नामक यह दो दिवसीय कार्यक्रम 27 जनवरी से शुरू होगा और मेला क्षेत्र के सेक्टर 18 में परमार्थ निकेतन शिविर में आयोजित किया जाएगा। लोकसभा अध्यक्ष के अलावा, भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी, पूनम महाजन और पूर्व बोस्नियाई पीएम की पत्नी सेल्मा मुहेदिनोविच सिलाज़िक व अन्य राजनेताओं के सम्मेलन में शामिल होने की उम्मीद हैं।
आज सायं 04 बजे परमार्थ निकेतन आश्रम, अरैल घाट, सेक्टर 18, प्रयागराज (उ० प्र०). में 1000 नाविक संघ के सदस्यों को सम्मानित करने के लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें उन्हें लाइफ जैकेट प्रदान की जाएगी साथ ही कार्यक्रम में साबुन एवं टॉयलेट क्लीनर वितरित किये जायेंगे व स्वछता एवं स्वास्थ्य विषयक संदेशों पर चर्चा की जाएगी। कार्यक्रम में स्वच्छता सेवकों की तैनाती, पेयजल एवं हाथ धोने के स्थानों की सूचना एवं अन्य संस्कृतिक क्रयाक्रमों को आयोजित किये जाने की योजना है।
कुंभ मेले में सेक्टर 1 में बने 400 से अधिक की क्षमता वाले फूड कोर्ट में अब भक्तों और पर्यटकों को भारत के 14 राज्यों के स्थानीय व्यंजनों का स्वाद मिलेगा। यहाँ तीर्थयात्री और पर्यटक 24 से अधिक काउंटरों पर विभिन्न राज्यों के विशिष्ट भोजन का स्वाद ले सकते हैं।
21 जनवरी को पौष पूर्णिमा के पावन अवसर पर, भक्तगण संगम आने के लिए शटल बसों पर मुफ्त सवारी कर सकते हैं। 500 से अधिक शटल बसें कुम्भ मेला क्षेत्र आने के विभिन्न मार्गों पर तैनात की गयीं हैं। मुफ्त सेवा केवल 21 जनवरी को उपलब्ध होगी।
पहली बार उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट बैठक लखनऊ में नहीं अपितु कुंभ मेले में होगी। यह बैठक 29 जनवरी 2019 को आकूत की गयी है।
कुम्भ/प्रयागराज/20 जनवरी 2019/
माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखंड श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी 21 जनवरी 2019 को पूर्वान्ह 11ः20 बजे कुंभ मेला क्षेत्र प्रयागराज पहुंचेगे। यहाँ वे अखाड़ा परिषद के माननीय अध्यक्ष एवं महामंत्री जी एवं विभिन्न अखाड़ों के प्रतिनिधियों एवं संत जनों से भेंट करेंगे।
कुम्भ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए शटल बसों का प्रबंध किया है और शुक्रवार से प्रयागराज में 10 शटल बसें निःशुल्क सेवाएं देगी। 5 बसें प्लाट न. 17 से चलकर संगम नोज़ तक जायेगें और 5 बसें लेप्रोसी मिशन चौराहा से टेंट सिटी अरैल तक चलेगी।
उत्तर मध्य रेलवे (NCR) ने रेलवे स्टेशन पर सात विभिन्न भाषाओं में घोषणाएं करने के लिए एक पब्लिक एड्रेस सिस्टम शुरू किया है। यह प्रणाली गैर-हिंदी भाषी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को कुंभ में मार्गदर्शन प्रदान करेगी। यह सिस्टम निम्नलिखित भाषाओं में घोषणा करेगा: अंग्रेजी, मराठी, गुजराती, कन्नड़, तमिल और मलयालम। पहले चरण में यह केवल इलाहाबाद जंक्शन पर शुरू किया गया है, जबकि दूसरे चरण में इसे नैनी और संगम के आसपास स्थापित रेलवे शिविरों तक विस्तारित किया जाएगा।
कुम्भ 2019 के भव्य शुभारम्भ के बाद कल 17 जनवरी को भारत के महामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी प्रयागराज पहुंचेगें। संगम नोज़ पर गंगा पूजन के तत्पश्च्यात वे अरैल स्थित परमार्थ निकेतन आश्रम पहुंचेगे, जहाँ विश्व शान्ति यज्ञ में प्रथम आहूति डालेंगे और महात्मा गाँधी के 150 वीं जयंती वर्ष के उपलक्ष में आयोजित कार्यक्रम में शिरक़त कर स्वच्छता, समरसता और सद्भाव का सन्देश देगें।
14 जनवरी 2019 की रात्रि मकर सक्रान्ति के अवसर पर प्रथम शाही स्नान के साथ कुम्भ 2019 का दिव्य और भव्य शुभारम्भ हुआ। अनुमान है कि कल देर रात से शुरू हुए शाही स्नान में आज सायं तक लगभग 02 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं ने त्रिवेणी तट पर डुबकी लगायी, 13 अखाड़ों के साधु भी शामिल है। देश के कोने-कोने से जन सैलाब प्रयागराज में उमड़ रहा है और साथ ही विदेशों से भी भारी संख्या में श्रद्धालु आध्यात्म, संस्कृति एवं सौहार्द के इस महासमागम में हिस्सा लेने पहुँच रहे है।
दिव्या और भव्य कुम्भ 2019 में आस्था की डुबकी लगाने भारी संख्या में महिलाएं भी पहुँच रही हैं, जिनकी सुविधा के लिए प्रयागराज के 35 घाटों पर अस्थायी चेंजिंग रूम्स की व्यवस्था की गयी है। प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने विभिन्न घाटों पर इस तरह के 1100 चेंजिंग रूम्स की व्यवस्था की है जिससे की महिलाओं को किसी प्रकार की परेशानी ना हो।
करोड़ो श्रद्धालुओं ने आज पवित्र संगम के त्रिवेणी घाट पर डुबकी लगा कर कुम्भ 2019 का भव्य शुभारम्भ किया। भारी संख्या में श्रद्धालुओं के उमड़ने से पुलिस की निगरानी में सुरक्षा की दृष्टि से डीप वाटर बैरिकेडिंग लगा कर शाही स्नान को संपन्न किया गया। वाटर बैरीगाडिंग के साथ ही रेस्क्यू टीम और 20 मोटर बोट और चप्पू नाव भी तैनात की गयी है।
कुंभ 2019 के दौरान आगंतुकों और तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए, देश के विभिन्न क्षेत्रों से 100 ट्रेनों को प्रयागराज में अस्थायी ठहराव के लिए निर्देशित किया गया है। सभी नॉन-स्टॉप ट्रेनें अब 13 जनवरी से इलाहाबाद जंक्शन, नैनी जंक्शन, प्रयाग जंक्शन, इलाहाबाद सिटी स्टेशन और झूंसी स्टेशन पर रुकेंगी। लगभग 10 ट्रेनें अब इलाहाबाद जंक्शन और इलाहाबाद सिटी में रुकेंगी, जबकि 46 और 34 ट्रेनें क्रमशः नैनी जंक्शन और प्रयाग जंक्शन पर रुकेंगी।
दूसरे राज्यों से कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 22 ट्रेनों को मंज़ूरी मिल गयी है। उत्तर मध्य रेलवे को 50 से अधिक विशेष ट्रेनों के प्रस्ताव मिले, जिनमें से दुर्ग, मुंबई, पुणे, चेन्नई, नागपुर, अहमदाबाद, और इंदौर सहित 22 को मंज़ूरी मिल गयी है और शेष को भी जल्द मंज़ूरी मिलने की सम्भावना है।।
कुम्भ 2019 में आगंतुकों और तीर्थयात्रियों को टिकट बुकिंग की सुविधा के लिए उत्तर-मध्य रेलवे ने इलेक्ट्रॉनिक टिकट मशीन (ईटीएम) लगाए हैं। इन ईटीएम मशीनों के ज़रिये साधारण, मेल और सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेनों की टिकट बुक की जा सकेगी। कुंभ में पहली बार इस्तेमाल होने वाली ये इन ईटीएम मशीने कुम्भ मेला में मौजूद रेल कुंभ सेवकों को प्रदान किया जाएगा, जो आगंतुकों की टिकट बुकिंग में सहायता करेगें।
कुम्भ के दौरान सुरक्षा की दृष्टि से जल पुलिस ने 16 सब कण्ट्रोल रूम बनाएं है जिनकी वो 3 थानों से निगरानी रखेगी। 41 स्नानघाटों पर मोटर बोट एवं बचाव उपकरणों के साथ तैनात होगें जल पुलिसकर्मी और 190 गोताखोर स्नानघाटों की निगरानी के लिए तैनात रहेगें। बचाव उपकरणों में रेस्क्यू बोट, गोताखोर किट, लाइफ जैकेट, रेस्क्यू ट्यूब और थ्रो बैग आदि है जो जरुरत के समय तुरंत मुहैया करवाए जाएंगे।
बॉलीवुड अभिनेत्री एवं मथुरा से सांसद हेमा मालिनी कुम्भ 2019 के भव्य आयोजन में 24 जनवरी को प्रस्तुति देंगी। कुम्भ मेला क्षेत्र के सेक्टर एक में बने अत्याधुनिक गंगा पंडाल में आगामी 24 जनवरी को शाम 6 30 बजे हेमा मालिनी नृत्य नाटिका की 90 मिनट की प्रस्तुति देगी।
कुंभ 2019 में भाग लेने के लिए देश विदेश से एक करोड़ से भी ज्यादा लोग पवित्र नगरी प्रयागराज पहुंचेगें। भारत के माननीय राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी और माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी भी आस्था और मानवता के इस भव्य उत्सव में भाग लेंगे। माननीय राष्ट्रपति 17 जनवरी को प्रयागराज पहुँच कर संगम में डुबकी लगाएगें, जबकि हमारे माननीय पीएम 24 जनवरी को प्रयागराज का दौरा क
प्रयागराज मेला क्षेत्र में स्थित पुलिस लाइन में कल 400 से अधिक स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इन कुंभ सेवा मित्रों को प्रयागराज के विभिन्न कॉलेजों में आयोजित कुंभ सेवा मित्र कार्यक्रमों के माध्यम से शॉर्टलिस्ट किया गया था। यह स्वयंसेवक कुंभ मेले के दौरान विभिन्न विभागों के अन्तर्गत आगंतुकों और तीर्थयात्रियों को सहायता प्रदान करने के लिए पूरे मेला क्षेत्र में तैनात किया जाएगा।
आध्यात्म, संस्कृति एवं सौहार्द का महासमागम कुंभ 2019 15 जनवरी से आरम्भ होने जा रह है। पवित्र नगरी प्रयागराज में आयोजित होने जा रहे भव्य कुम्भ में दुनिया भर से करोड़ो लोगों शामिल होने आएंगे। प्रतिदिन 10, 000 लोगों को भोजन कराने के उद्देश्य से, अक्षय पात्र फाउंडेशन ने मेला क्षेत्र में एक केंद्रीय सार्वजनिक रसोईघर स्थापित किया है। इस रसोईघर का उद्घाटन आगामी13 जनवरी 2019 को दोपहर 12 बजे सेक्टर 6, असी माधव रोड में होने जा रहा है, जो 4 मार्च तक प्रतिदिन हज़ारों आगंतुक निशुल्क भोजन कर सकेंगे।
1500 स्वच्छाग्रही कुम्भ मेला में शामिल होने जा रहे हैं। सेक्टर 4-7-10-13-17-19 में 6 अलग-अलग सार्वजनिक स्थानों पर इन स्वच्छाग्रहियों को तैनात किया जायेगा, जो मेला क्षेत्र में स्वच्छता की निगरानी की जिम्मेदारी संभालेगें।
कुम्भ 2019 में आगंतुकों और तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए प्रयागराज जंक्शन पर 10,000 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा, ५०० से अधिक शटल बसों को तैनात किया गया है और पार्किंग की सुविधा के लिए 94 पार्किंग क्षेत्र स्थापित किए गए हैं।
कुंभ 2019 के दौरान जल एम्बुलेंस सुविधा भी उपलब्ध होगी। किसी भी आपात स्थिति में उपचार प्रदान करने के लिए इस जल एम्बुलेंस में टीम के 5 सदस्यों के साथ एक डॉक्टर उपलब्ध होगा।
• जन सामान्य के भ्रमण हेतु अक्षयवट एवं सरस्वती कूप दर्शन के लिए घोषणा
• मीडिया सेण्टर का उद्घाटन एवं प्रेस वार्ता
• संस्कृति ग्राम का उद्घाटन
• संस्कृति विभाग के कुम्भ मेला पर लघु फिल्म एवं कुम्भ कॉफी टेबल बुक का विमोचन
• बैंक ऑफ बड़ौदा की शाखाओं/ए.टी.एम का उद्घाटन
कुम्भ आयोजन के दौरान एक दिन पहले एवं एक दिन बाद कोई भीनही लागू होगा प्रोटोकाल- मा. मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश
कुम्भ आयोजन में सफाई और सुरक्षा हमारी प्राथमिकता- मा. मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश
हरी झण्डी दिखाकर कुम्भ के लिए स्वच्छता सम्बन्धी वाहनों, शटल बसों एवं ई रिक्शाओं को मा. मुख्यमंत्री ने किया रवाना
कुम्भ के लिए आयी शटल बस स्वयं मा. मुख्यमंत्री जी बैठकर पहुंचे मेला मे स्थापित केन्द्रीय चिकित्सालय
कुम्भ के लिए महत्वपूर्ण नाविकों को माण् मुख्यमंत्री ने वितरित किये लाइफजैकेट
क्रूज से सफर कर मेला क्षेत्र एवं नैनी ब्रिज की लाइटिंग का मा. मुख्यमंत्री ने देखा नजारा
पुलिस विभाग इस कुम्भ मेला में अबाधित संचार एवं निगरानी तंत्र का निर्माण करने की योजना बना रही है। आगामी कुम्भ मेला के दौरान संचार की समस्या को दूर करने के लिये विभाग समर्पित सूचना चैनल्स के साथ उच्च तकनीकी तंत्र की प्रयोज्यता की दिशा में आगे बढ़ रही है। सहज संचार हेतु एक नवीन सर्वसमावेशी चैनल दुतरफा संचारण हेतु कुम्भ मेला में स्थापित किया जायेगा।
कुम्भ मेला के दौरान निगरानी हेतु 100 नम्बर वीडियों कान्फ्रेसिंह, सी.सी.टी.वी. यूएवी, वीएमएस और जन उद्घोषणा तंत्र का उपयोग किया जायेगा।
कुम्भ -2019 में यात्रियों एवं श्रद्धालुओं के लिये सहज एवं कठिनाइयों से मुक्त रीति में 500 बैटरी चालित ई-रिक्शा मेला क्षेत्र के भीतर श्रद्धालुओं को भ्रमण करायेगी, 500 से अधिक शटल बसें पार्किंग स्थान से मेला क्षेत्र तक चलायी जायेंगी। यह परिवहन तंत्र श्रद्धालुओं को मेला क्षेत्र में आने और भ्रमण करने को सुविधाजनक बनायेगी क्योंकि यह तीर्थयात्रियों के लिये अंतिम मील तक सम्पर्क सुनिश्चित करेंगी।



प्रयागराज मेला प्राधिकरण के द्वारा कुम्भ-2019 में आने वाले तीर्थयात्रियों की सुगमता हेतु एक एसएमएस अभियान चलाया गया है। 10 करोड़ से अधिक एसएमएस तीन चरणों में नागरिकों को विभिन्न पक्षों और कुम्भ 2019 में उपलब्ध सुविधायें पर सूचनायें प्रदान करती हुई भेजी जायेंगी। एसएमएस अभियान को रिलायंस जियो, एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के द्वारा सुविधायें प्रदान की जा रही है।

संदेश में पायी गयी लिंक दर्शकों को खोया-पाया केन्द्रों, स्वास्थ्य, सुरक्षा, टेट्स की बुकिंग, सफाई, फूड कोर्ट, राशन एवं सब्जी दुकाने इत्यादि तक ले जायेंगी। आईआरसीटीसी एवं यूपीआरसीटीसी वेसाइट के माध्यम से टिकट बुकिंग के लिंक्स भी उपलब्ध कराये जायेंगे। ऐसे लिंक्स पहलीबार ऐसी सुविधायें के लिये दिये जा रहे है।
पेज जो लिंक की मदद से खुलती है, पर आफीशियल वेबसाइट देखने के आलावा वहां कुम्भ मेला की अन्य परिसम्पत्तियां यथा मोबाइल एप्प, फेसबुक, ट्विटर, इस्टाग्राम एवं यू-ट्यूब के लिये भी लिंक्स दिये गये है, जहां दर्शक कुम्भ मेला-2019 के लिये सर्वाधिक नवीनतम एवं आधिकारिक सूचना प्राप्त करेंगे।
सहज यातायात प्रवाह सुनिश्चित करने के लिये प्रत्येक सहज दृश्य स्थान पर मार्ग निर्देशक साइनबोर्ड के साथ कुम्भ मेला 2019 श्रद्धालुओं.यात्रियों की अभूतपूर्ण संख्या का स्वागत करने के लिये तैयार है जो मेला क्षेत्र का दर्शन करेंगे।

कुल 1500 साइन बोर्ड श्रद्धालुजन की सुविधा हेतु 5 जनवरी से स्थापित किये जायेंगे। ये साइनबोर्ड स्थान चिन्हीकरण के साथ मार्ग निर्देशक बोर्ड, सावधान ओर आज्ञापक संकेतक, सड़क के नाम और पैदल मार्ग का बोर्ड को सम्मिलित करेगी।
मेला में प्लास्टिक मुक्त एक नवीन अभियान के साथ दोना पत्तल, जूट, वीटेल नट्स, मिट्टी के बर्तनों और पटरी शाप्स स्थापति किये जायेंगे।
मेले में एम्यूजमेंट क्षेत्र की ओर बढें धर्मशास्त्रीय एवं आध्यात्मिक लेजर प्रदर्शनी का इस बार अवलोकन करें।
प्रयागराज में कुम्भ मेला-2019 के लिये पवित्र संगम तट पर आने वाले श्रद्धालु एवं दर्शकगण आगामी वर्ष में एक तकनीकी-मित्र-कुम्भ के साक्षी बनेंगे। सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में सभी तीर्थयात्रियों एवं दर्शकों के लिए तीव्र्र गतिशील वाई-फाई प्रदान करने के लिए लगभग 4000 हाटस्पाट्स स्थापित किये जा रहे हैं। आगामी विश्व स्तरीय आयोजन के लिये नवीनतम दूरभाष सेवाओं की एक श्रृखला के साथ कुम्भ मेला 2019 में भविष्य की चालू और निकटतम आवश्यकताऐं हेतु पर्याप्त नेटवर्क क्षमता के साथ विश्वसनीय, मजबूत और अबाध नेटवर्क सम्बद्धता प्राप्त होगी। ये सेवायें श्रद्धालुओं को इटरनेट एवं मोबाइल फोन्स के माध्यम से अपने सगे सम्बंधियों के साथ विश्व के विराटतम धार्मिक समागम से सम्बंधित अपने अनुभव साझा करने में सहायता करेंगी। यह सुविधाए कुंभ-2019 को राज्य सरकार द्वारा सहज एवं सुगम बनाने की दिशा में एक कदम है।
इस बार 40 से अधिक खाद्य स्टालों के साथ एक फूडकोर्ट स्थापित किया जायेगा।
पहली बार एक बड़े पैमाने पर दूध के बूथ आवंटित किये गये है। मदर डेयरी और अमूल के द्वारा 48 दूध के बूथ स्थापित किये जायेंगे।
इलाहाबाद बैंक कुम्भ-2019 में मेला क्षेत्र में स्थापित होने वाला पहला बैंक है।