गोपनीयता नीति

क्षेत्र

इस गोपनीयता नीति में हम, हमें, हमारा शब्द शहरी विकास विभाग, उत्तर प्रदेश शासन निर्दिष्ट है। कृपया गोपनीयता नीति को सावधानी से पढ़ें, क्योंकि ये (क) इण्टरनेट साइट www.kumbh.org या शहरी विकास मंत्रालय उ0.प्र0शासन के स्वामित्वाधीन और संचालित किसी अन्य इण्टरनेट साइट, kumbh.gov.in (साइट्स में) को सम्मिलित करती हुयी किन्तु यहीं तक सीमित नहीं, और उसमें समाविष्ट माइक्रोसाइट, और/या (ख) हमारे मोबाइल एप्लीकेशन (हमारा “मोबाइल एप”), सामूहिकरूप से हमारा वेबसाइट हमारे “मंच” का आपके द्वारा प्रयोग चाहे एक अतिथि या एक पंजीकृत प्रयोगकर्ता के रूप में, को लागू होता है। हमारे मंचों का उपयोग, पहुँच बनाना ब्राउंजिंग या हमारे मंचों का उपयोग रजिस्ट्रीकृत होना को सम्मिलित करती है। इस मंच का आपके द्वारा सतत् प्रयोग हमें निम्नलिखित रीति में आपकी व्यक्तिगत जानकारियों का संग्र्रहण, भण्डारण, प्रयोग और प्रकट करने के लिए आपकी बिना शर्त सहमति प्रदान करती है। जब गोपनीयता नीति हमारे प्रयोग की निर्बंधनों के अध्यधीन है और इसे इसके साथ अवश्य पढ़ा जाना चाहिये। यह नीति सभी बाह्य पक्षकारों, अर्थात शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट्स एवं सोशल मीडिया पेजेज के दर्शकों, शहरी विकास मंत्रालय के अभिदातागण, वक्तव्यों एवं विपणन सामग्रियों, और किसी अन्य वैयक्तिक को लागू होती है जिसकी व्यक्तिगत जानकारी का संग्रहण, भण्डारण और उपयोग शहरी विकास मंत्रालय, उ0 प्र0 शासन या इसके कार्यालयों के द्वारा किया जा सकेगा। यह नीति इसकी सभी कार्यालयों (भारत में और अन्तर्राष्ट्रीय) में व्यक्तिगत जानकारी का प्रबन्धन हेतु शहरी विकास मंत्रालय, उ0 प्र0 शासन को लागू होती है। हमने आपको, प्रयोगकर्ता को यह समझने में सहायता करने के लिए इस नीति का प्राविधान किया है कि कैसे हम आपकी सूचना का संग्रहण, उपयोग और संरक्षा करते हैं। जब आप शहरी विकास मंत्रालय, उ0प्र0 शासन की किसी वेबस्पेस मोबाइल एप्लीकेशन, माइक्रोसाइट, सोशल मीडिया मंचों, टूल्स एवं किसी अन्य तकनीकी मंचों का किसी रूप में प्रयोग करते हैं, और कैसे उस सूचना के साथ व्यवहार किया जायेगा, कृपया अपनी जानकारियों और कैसे हम इसको व्यवहृत करेंगे, के बारे में हमारे अभिमतों एवं व्यवहारों को समझने के लिये निम्नलिखित को सावधानीपूर्वक पढ़ें। यदि आप कतिपय शब्दों से परिचित नहीं हैं तो कृपया इस नीति के प्रमुख शब्द अनुभाग में ऐसे शब्दों से परिचित हो जांय।

नीति

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन यह समझती है कि अपनी निजता के लिये वैयक्तिकजन का अधिकार महत्वपूर्ण है और सर्वकालिकरूप से प्रयोगकर्तागण की निजता का समादर करते हुये उसे सम्प्रदर्शित करती है।

कैसे शहरी विकास मंत्रालय, उ0प्र0 शासन व्यक्तिगत जानकारी का संग्रहण करती है

यदि आप एक टै्रवेल एजेण्ट हैं जो शहरी विकास मंत्रालय, उ0 प्र0, शासन की एक वेबसाइट पर रजिस्ट्रीकृत होते हैं, तो आपका नाम, लिंग, जन्मतिथि, वृत्ति स्वत्व, ई-मेल पता और व्यापार सम्पर्क विवरणों का संग्रह किया जायेगा।

  • यदि आप शहरी विकास मंत्रालय उ0प्र0 शासन के साथ व्यवहार करते हैं, तो शहरी विकास मंत्रालय उ0 प्र0 शासन व्यापार के अनुक्रम में सामान्यतया आापके व्यापारिक सम्पर्क विवरणों का संग्रह करेगी, जिससे कि शहरी विकास मंत्रालय उ0 प्र0 शासन सामान्य व्यापारिक प्रयोजनों हेतु आपके साथ संचारण कर सकती है।
  • शहरी विकास मंत्रालय उ0 प्र0 शासन अपने कर्मचारीबृंद और ठेकेदारों के बारे में व्यक्तिगत जानकारियों (व्यक्तिगत अभिलेख) का संग्रह भी करती है।
  • यदि आप एक शिकायत करते हैं तो जिससे कि शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन सामान्यतया आपका नाम, पता या ई-मेल पत्र और शिकायत के बारे में विवरणों का संग्रह करेगी।

कैसे शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन व्यक्तिगत सूचना का उपयोग और प्रकटन करती है।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन व्यक्तिगत सूचनाओं का उपयोग और प्रकटन उस प्रयोजनार्थ करेगी, जिसके लिये इसका संग्रह किया गया था। उहारणार्थ यदि आप भारत में यात्रा करने हेतु सूचनायें प्राप्त करने के लिये शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन की वेबसइट पर रजिस्ट्रीकरण कराते हैं, तो शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन आपका नाम और ई-मेल पता या उपयोग इस सूचना को प्रेषित करने के लिये करेगी। अन्य उदाहरण इस प्रयोजनार्थ उपयोग और प्रकटन को सम्मिलित करेगी ।

  • आपके द्वारा निवेदित प्रकाशनों एवं सेवायें आपको प्रदान किया जाना
  • विपणन संचारण
  • विज्ञापन संचारणों
  • शिकायत निस्तारण
  • शोध एवं भविष्यवाणी और,
  • विनिर्दिष्ट सांविधिक या प्रशासनिक कृत्यों का सम्पादन करना।

तृतीय पक्षों जिन्हे शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश शासन आपकी व्यक्तिगत सूचना का प्रकटन कर सकती है, के उदाहरण में व्यापारिक आयोजनों का संचालन करने के अनुक्रम में बाह्य सेवा प्रदातागण यथा आई टी परामर्शी, वृत्तिक परामर्शीगण प्रकाशन गृहों और विपणन/विज्ञापन एजेंसियों या व्यापारिक भागीदारगण को सम्मिलित करेगी। जिनके साथ शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार एक औपचारिक संविदात्मक संबंध रखती है।
शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार उन प्रयोजनों जिसके लिये इसका संग्रह किया गया था, से अन्यथा एक प्रयोजनार्थ व्यक्तिगत सूचना का उपयोग या प्रकटन नहीं करेगी जब तक
आपकी सहमति प्राप्त नहीं कर ली जाती है
शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार एक भारतीय विधि या एक न्यायालय या अधिकरण का आदेश द्वारा प्राधिकृत या अपेक्षित है ; या,

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार संग्रह के प्रयोजनार्थ या से प्रत्यक्षतः सम्बन्धित या तत्सम्बन्धित एक द्वितीयक प्रयोजनार्थ आापकी व्यक्तिगत सूचना का उपयोग या प्रकटन भी कर सकती है, जहां आप युक्ति-युक्ततः प्रत्याशा करेंगे कि आपकी सूचना का उपयोग इस अन्य प्रयोजनार्थ किया जायेगा। द्वितीयक प्रयोजन गतिविधियों यथा सार्वजनिक शिक्षा या गुणवत्ता आश्वस्ति, को सम्मिलित कर सकती है।

समय जिस पर या जिसके पूर्व शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार आपकी व्यक्तिगत सूचना का संग्रह करती है (या तत्पश्चात यथाशीघ्र जैसे ही व्यावहारिक हो) शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार ऐसे कदम उठायेगी जैसी परिस्थितियों में आपको अन्य बातों के साथ निम्नलिखित सूचनायें समाविष्ट करती हुयी एक संग्रह हेतु नोटिस प्रदान करने के लिये ऐसे कदम उठायेगी जो युक्ति-युक्त हो।

प्रयोजन का संग्रह विदेश में व्यक्तिगत सूचना का प्रकटन

यह संभव है कि शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार अपनी विपणन कृत्यों का एक भाग के रूप में विदेश में आपकी व्यक्तिगत सूचना का प्रकटन करेगी। देशों जिसमें प्राप्तकर्तागण का स्थित होना संभावित है, में वे देश सम्मिलित हैं जहां शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के क्षेत्रीय कार्यालय स्थित हैं। इनमें यूएसए, यूके, चाइना, सिंगापुर, जर्मनी, दुबई एवं रूस सम्मिलित हैं।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार आपकी व्यक्तिगत सूचना का प्रकटन किसी विदेशी प्राप्तकर्ता को नहीं करती है जब तक निम्नलिखित में से एक लागू नहीं होती है।

  • प्राप्तकर्ता एक विधि या भारतीय नियमों एवं विनियमों इनके प्रवर्तन हेतु क्रिया विधि को शामिल करते हुए, के समान सारवानरूप से बाध्यकारी योजना के अध्यधीन है।
  • आपने अभिव्यक्ततः यह सूचित किये जाने के पश्चात प्रकटन हेतु सहमति दिया है कि शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित करने के लिये युक्ति-युक्त कदम नहीं उठायेगी कि विदेशी प्राप्तकर्तागण भारतीय विधियों के अनुसार किसी निजता विधियों का भंग कारित नहीं करता है।
  • यह विधि द्वारा अपेक्षित है या प्राधिकृत है।
  • यह सूचना साझा करने से सम्बन्धित एक अन्तर्राष्ट्रीय करार, जिसका भारत एक पक्षकार है, के द्वारा अपेक्षित या प्राधिकृत है।
  • एक प्रवर्तन निकाय की ओर से या के द्वारा संचालित और एक प्रवर्तन से सम्बन्धित गतिविधियों के लिये युक्तियुक्ततः आवश्यक है और प्राप्तकर्ता इसी समान कृत्यों का सम्पादन करता है।

व्यक्तिगत सूचना की सुरक्षा

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार व्यक्तिगत सूचना की सुरक्षा को गंभीरता से लेती है और आपकी व्यक्तिगत सूचना की अप्राधिकृत पहुँच, उपयोग, उपांतरण, प्रकटन या सुरक्षा कवच का क्रियान्वयन को सम्मिलित करती हुयी भौतिक एवं इलेक्ट्रानिक सुरक्षा उपायों का एक विस्तार को क्रियान्वित किया है।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संग्रहीत व्यक्तिगत सूचना के इलेक्ट्रानिक अभिलेख डाटाबेस में भण्डारण किया जाता है जो भारत में सर्वरों पर धारित किये जाते हैं। शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार का आई.टी. तंत्र को सम्यक् आई. टी. सुरक्षा उपायों से संरक्षित किया गया है।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार अपने कर्मचारीगण से भी यह सुनिश्चित करने की अपेक्षा करती है कि व्यक्तिगत सूचना को समाविष्ट करती हुयी अभिलेख प्रपत्र का सुरक्षित भण्डारण किया गया है। शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के कर्मचारीगण अपने नियोजन की एक शर्त के रूप में गोपनीयता दायित्वों से आवद्ध हैं और यह सुनिश्चित करने तक यह विस्तारित है कि शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा संग्रहीत सूचना गोपनीयता के साथ रखी जाती है।

आनलाइन गोपनीयता के मुद्दे

यदि आप शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के मंचों यथा वेबसाइट्स

(kumbh.gov.in को सम्मिलित करती हुयी) और/या एप्स का उपयोग करते हैं, तो आपके बेव और/या एप का आपके द्वारा व्यक्तिगत उपयोग शोध एवं सांख्यकीय और रिपोर्टिंग प्रयोजन हेतु और इसी प्रकार शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार को अपनी वेबसाइट्स, व्युत्पादों एवं सेवाओं में सुधार अनुज्ञात करते हैं।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार अपनी साइट्स से सम्बद्ध होते समय आपके अनुभव में सुधार करने हेतु कुकीज और सेशन टूल्स का प्रयोग भी करती है। संग्रहीत सूचना आपके आई पी पता, निर्दिष्टकर्ता साइट और शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकारकी साइट से जुड़ने वाले पृष्ठों को सम्मिलित कर सकती है। आई.पी. पता एक प्रयोगकर्ता का सत्र का पता लगाने के लिये लाग्ड किया जाता है जब कि प्रयोगकर्ता गुमनाम बना रहता है। शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार कतिपय प्रवृत्तियों एवं साख्यिकीय प्रयोजनों हेतु इस डेटा का विश्लेषण करता है, यथा प्रयोगकर्तागण शहरी विकास मंत्रालय की वेबसाइट के किन भागों को देख रहे हैं और वे वहां कितना समय बिताते हैं। शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार आपके आई पी पता को किसी ऐसी वस्तु से सम्बद्ध नहीं करती है जो आपको पहिचानती है।

सामान्यतया शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार को बताये बगैर शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के मंचों से सम्बद्ध हो सकते हैं जिसे आप अपने बारे में कोई व्यक्तिगत सूचना प्रकट कर रहे हैं। तथापि कई बार ऐसा होता है जब शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार को आपकी व्यक्तिगत सूचना का संग्रह करने की आवश्यकता हो सकती है। उदाहरणार्थ, यदि आप शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के प्रकाशनों को प्राप्त करने या एक उत्सव में शामिल होने के लिये रजिस्ट्रीकृत होते हैं तो शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार को इस प्रयोजनार्थ आप से कुछ व्यक्तिगत सूचना का संग्रह करने की आवश्यकता होगी। इस मामले में शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार नोटिस देगी और अग्रेतर इलेक्ट्रानिक संचारण भेजने के लिये और अपने डाटाबेस में आपकी व्यक्तिगत सूचना भण्डारित किये जाने हेतु आपकी अनुमति की अपेक्षा करेगी। यदि शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार को अपनी व्यक्तिगत सूचना देने के पश्चात किसी समय आप आगे और सूचना प्राप्त करना पसंद नहीं करेंगे, तो साधारणतया कोई ई-मेल जो आप प्राप्त करते हैं, के अंत में निर्देशों “अन्सब्सक्राइव” का अनुसरण करें, या शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार से इस नीति के अंत में सूचीबद्ध किये गये सम्पर्क विवरणों का प्रयोग करते हुये सम्पर्क करें।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा वेबसाइट के प्रयोगकर्तागण या उनकी ब्राउजिंग गतिविधियों की पहिचान करने के लिये एक अन्वेषण की असंभावित घटना के अलावा नहीं करेगी जहां एक विधि प्रवर्तन अभिकरण सर्वर लाग्स का निरीक्षण करने के लिये वारण्ट का प्रयोग कर सकती है। सांख्यिकीय आंकड़े और लाग्स फाइल को अनिश्चितकाल तक संर्दक्षित और किसी समय और किसी रूप में सुरक्षा भंगों को रोकना आवश्यक हो और शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा आपूर्ति की गयी सूचनाओंं की अभिन्नता सुनिश्चित करने के लिये प्रयुक्त किया जा सकेगा। जहां आप शहरी विकास मंत्रालय की सोशल मीडिया पेजेज (यथा फेसबुक या इन्स्टाग्राम या ट्विटर) का उपयोग करते हैं, तो शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार आापकी सहमति के बगैर आपके बारे में कोई व्यक्तिगत सूचना का संग्रह नहीं करेगी।

कुकीज

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार की कुछ वेबपेजेज कुकीज हैं जो छोटी छोटी फाइलें हैं, जिन्हें अभिलेख रखने के प्रयोजनार्थ आपकी हार्ड डिस्क पर रखा जा सकेगां एक कुकी शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार की आप कौन हैं, का स्मरण करने में मदद करती है और तदुपरि वेबपेजेज तक आपकी पहुंच को आसान बना सकती है। आप अपने ब्राउजर को स्वयं को अधिसूचित करने के लिये सेट कर सकते हैं जब आप एक कुकी प्राप्त करते है, जो आपको यह विनिश्चिय करने का एक अवसर प्रदान करती है कि क्या आप इसे स्वीकार करते हैं या नहीं। तथापि कुकीज को स्वीकार नहीं करते हुये कुछ बेवपेजेज समुचित रूप से प्रदर्शित नहीं हो सकते हैं या आपको कतिपय सूचनाओं तक पहुँचने की अनुमति नहीं हो सकती है। शहरी विकास मंत्रालय की कुकीज के अन्तर्गत किसी व्यक्तिगत सूचना का भण्डारण नहीं किया जाता है। कुकीज शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट्स के लिये महत्वपूर्ण है और सर्वोत्तम संभव आनलाइन अनुभव प्रदान करने हेतु प्रयुक्त किये जाते हैं। इस साइट का प्रयोग जारी रखते हुये आप इसके उपयोग हेतु सहमति प्रदान करते हैं।

आनलाइन सुरक्षा

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार अपनी बेवसाइट्स को प्रस्तुत की गयी व्यक्तिगत सूचना की सुरक्षा, अभिन्नता एवं गोपनीयता सुनिश्चित करने का प्रयास करते हैं और पाक्षिकरूप से (हर पन्द्रह दिनों पर) अधुनातन तकनीकों के आलोक में सुरक्षा उपायों को अद्यतन बनाती है। आपको इण्टरनेट के माध्यम से सूचना के पारेषण से सहबद्ध आंतरिक जोखिमों से भिज्ञ होने की आवश्यकता है। शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार अपनी बेवसाइट को आपके द्वारा दी गयी किसी व्यक्तिगत सूचना की सुरक्षा को वांछित नहीं बना सकती है या गारंटी नहीं दे सकती है। यदि आपका इस बारे में कोई मतलब है, तो शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार सूचना देने या प्राप्त करने के लिये अन्य माध्यम रखती है। डाक सेवायें, दूरभाष और फैक्स की सुविधायें उपलब्ध हैं।

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट्स को तृतीय पक्षों द्वारा संचालित वेबसाइट्स से भी सम्बद्ध किया जा सकेगा। ये केवल आपकी सुविधा के लिये तात्पर्यित है। तृतीय पक्ष वेबसाइट से सम्बद्धता इन वेबसाइट की किसी प्रयोजन, पृष्ठांकन या अनुमोदन का गठन नहीं करती है। उन वेबसाइट पर आने वाले लोगों को अपनी पृथक गोपनीयता नीतियां एवं व्यवहारों, अर्थात एडोबी पैकेजेज को निर्दिष्ट करना चाहिये।

शिकायतें

यदि आप इस बात की शिकायत करने की इच्छा रखते हैं कि कैसे शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार आपकी व्यक्तिगत सूचनाओं का प्रबंधन करती है, तो आपको डाक या ई-मेल kumbhmeladhikari-up@nic.in के द्वारा सम्पर्क विवरणों, जो इस नीति मे स्थापित किये गये हैं, का उपयोग करते हुये एक लिखित शिकायत प्रस्तुत करना चाहिये। शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार 30 दिनों के भीतर आपकी शिकायत पर प्रतिक्रिया देने का प्रयास करेगी।

यदि आप शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार के प्रत्युत्तर से संतुष्ट नहीं हैं तो आप मेला अधिकारी, शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार को एक लिखित शिकायत कर सकते हैं।

सम्पूर्ण सूचना

यदि आप इस नीति के बारे में कोई पृच्छा रखते हैं या यदि आप एक शिकायत करने की इच्छा रखते हैं, तो मेला अधिकारी, शहरी विकास मंत्रालय को निम्नलिखित विवरणों का उल्लेख करते हुए सम्पर्क करें :

  • ई-मेल द्वारा kumbhmeladhikari-up@nic.in
  • डाक द्वारा शहरी विकास मंत्रालय, त्रिवेणी भवन बेनी बांध, दारागंज, प्रयागराज मेला प्राधिकरण, इलाहाबाद, उ0प्र0
  • दूरभाष द्वारा +91 532 2500775 / +91 532 2504011

शहरी विकास मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार पाक्षिकरूप से हर पंद्रह दिनों पर इस नीति की पुनर्समीक्षा करती है और किसी समय इसके किसी अंश का अपने विवेकाधिकार या उपांतरण करने या हटाने का अधिकार आरक्षित रखती है। कोई संशोधन इसकी वेबसाइट पर अद्यतन कथन पोस्ट करते हुये अधिसूचित किया जायेगा।