प्रेस-विज्ञप्ति

मा. मुख्यमंत्री ने किया मेला में स्थापित अखाड़ों का भ्रमण

मा. मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश, श्री योगी आदित्यनाथ जी आज एकदिवसीय प्रयागराज भ्रमण के दौरान कुम्भ आयोजन के लिए मेला क्षेत्र में बसे संत-महात्मओं के अखाड़ों एवं शिविरों का भ्रमण किया। मा. मुख्यमंत्री जी के साथ मा. स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थनाथ सिंह जी, मा. नगर विकास मंत्री श्री सुरेश खन्ना जी, मा. स्टाम्प एवं उड्डयन मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी जी उनके साथ चल रहें थे। मा. मुख्यमंत्री जी ने स्वच्छता सम्बन्धी वाहनों की परेड एवं शटल बसों एवं ई रिक्शा का फ्लैग ऑफ किया। उन्होंने नाविकों को लाइफ जैकेट का वितरण करने के बाद मेला अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद विश्व सहभागिता क्षेत्र एवं त्रिवेणी संकुल का भ्रमण करने के बाद क्रूज से किला एवं नैनी ब्रिज पर फसाड लाइटिंग का अवलोकन भी किया गया। मा. मुख्यमंत्री जी ने प्रयागराजवासियों को कुम्भ मेले में आने वाले आगन्तुको, श्रद्धालुओं, पर्यटकों के स्वागत के लिए तैयार रहने को कहा है। उन्होंने कहा कि कुम्भ का आयोजन दिव्य और भव्य हो इसके लिए प्रयागराज में कई विकास के कार्य किये गये है, जो प्रयागराज शहर में आने वाले लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेगा।

मा. मुख्यमंत्री जी सर्वप्रथम मेला क्षेत्र के कुम्भ मेला आयोजन के लिए आये साधु-संतों का सेक्टर-16 में स्थापित अखाड़ो में पहुंचे। साधु-संतों के द्वारा मा. मुख्यमंत्री जी का अभिनन्दन किया गया। साधु-संतों ने मा. मुख्यमंत्री के उनके शिविरों में आने पर प्रसन्नता जाहिर की गयी। मा. मुख्यमंत्री पहले दिगम्बर अखाड़ा पहुंचे, जहां पर मा. मुख्यमंत्री जी का पूरे जोर-शोर के साथ साधु संतों के द्वारा स्वागत किया गया। उन्होंने इस अवसर पर अखाड़ा के ध्वज को भी फहराया। इसके बाद मा. मुख्यमंत्री जी अनी अखाड़ा पहुंचे, जहां उन्होंने साधु-संतो से मुलाकात की तथा उनका हाल-चाल भी जाना। इसी तरह मा. मुख्यमंत्री एक-एक कर अखाड़ों में गये जिसमें बड़ा उदासीन अखाड़ा, निरंजनी अखाड़ा, अटल अखाड़ा, महानिर्वाणी अखाड़ा में गये तथा वहां के साधु-संतो से भेंट भी की।

मा. मुख्यमंत्री जी के द्वारा मेला क्षेत्र में अखाड़ो के साधु संतो से मिलने के बाद सेक्टर 3 में स्थापित यात्री निवास भी पहुंचे। वहां से निकलकर मा. मुख्यमंत्री त्रिवेणी रोड पर पहुंचे, जहां पर उन्होंने स्वच्छता सम्बन्धी वाहनों की परेड करवायी तथा कुम्भ मेला के लिए आयी शटल बसों एवं ई रिक्शाओं को हरी झण्डी दिखाकर रवाना भी किया गया। मा. मुख्यमंत्री जी के द्वारा कुम्भ के लिए आयी शटल बस पर स्वयं चढ़ कर बस से ही मेला क्षेत्र में स्थापित केन्द्रीय चिकित्सालय पहुंचे। वहां पर मा. मुख्यमंत्री जी ने चिकित्सिय अधिकारियों से केन्द्रीय चिकित्सालय में दी जा रही चिकित्सिय सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने चिकित्सालयों में मरीजों से उनका हाल-चाल भी जाना। इसके बाद मा. मुख्यमंत्री जी मेला स्थित एस.एस.पी. कार्यालय पहुंचे, जहां पर उन्होंने कुम्भ की सुरक्षा के दृष्टि से नाविकों जागरूक करने के लिए उन्हें लाइफजैकेट का वितरण किया। मा. मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर नाविकों के साथ एक फोटो भी खिचवाई। मा. मुख्यमंत्री जी ने लाइफजैकेट वितरण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि कुम्भ का आयोजन मे नाविकों का महत्वपूर्ण योगदान होता है। उन्होंने कहा कि आने वाले श्रद्धालुओं से हम अच्छा बर्ताव करे, जिससे वे यहां की अच्छी एवं यादगार यादों को अपने साथ ले जाय। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा कुम्भ आयोजन को भव्य एवं दिव्य के साथ सुरक्षित कुम्भ के रूप आयोजित किया जा रहा है।

मा. मुख्यमंत्री जी मेला क्षेत्र से निकलकर अरैल क्षेत्र पहुंचे, जहां पर उन्होंने कुम्भ के दृष्टिगत कराये जा रहे कार्यों को भी देखा। उन्होंने विगत माह आये कई देशों के राजनियकों के द्वारा अपने देशों के फहराये झण्डों को भी देखा गया। उन्होंने मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल से कुम्भ कार्यो की विस्तृत जानकारी भी ली। इसके बाद मा. मुख्यमंत्री जी अरैल से कूज पर बैठकर पूरे किला घाट तक पहुंचे। इस दौरान उन्होंने नैनी ब्रिज तथा संगम क्षेत्र में की गयी लाइटिंग को देखा। उन्होंने मेला क्षेत्र एवं नैनी ब्रिज पर की गयी लाइटिंग की सराहना की।

मा. मुख्यमंत्री जी के साथ अपर मुख्य सचिव सूचना एवं पर्यटन श्री अवनीश कुमार अवस्थी, एडीजी श्री एस.एन.साबत, मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल, मेलाधिकारी श्री विजय किरन आनन्द, जिलाधिकारी प्रयागराज श्री सुहास एल.वाई डीआईजी मेला श्री के.पी.सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Saturday, 5 जनवरी 2019