मेरे शहर का रंग-रोगन

'स्ट्रीट आर्ट' कला कर्म का एक प्रारूप है, जो एक समुदाय में इसके चारों ओर स्थित भवनों, सड़कों, और अन्य धरातलों पर सम्प्रदर्शित की जाती है।'स्ट्रीट आर्ट' का एक विभेदनकारी लक्षण यह है कि दिये गये स्थान का भवन निर्माण के तत्वों को चित्र में समंजनकारी रूप में सम्मिलित किया जाता है। हाल के वर्षों में जनमत में सड़क की कला में सार्वजनिक स्थानों जिन्हें वे पसन्द करते हैं तक एक सामाजिक रूप से स्वीकृत और आदृत होने के लिये भी एक बड़े परिवर्तन के दौर से गुजर रही है।

तीर्थयात्रीगण एवं पर्यटकों के बड़ी संख्या में पहुंचने के पूर्व राज्य का सौंदर्यीकरण की उत्तर प्रदेश सरकार की विद्यमान प्रयासों का समर्थन करने के लिये प्रयागराज मेला प्राधिकरण सम्पूर्ण इलाहाबाद में सार्वजनिक दृश्य स्थानों पर सड़क की कला की परियोजनायें अपनायेगी।

यह अभियान कुंभ मेला- 2019 सम्पन्न हो जाने के पश्चात् इलाहाबाद शहर के पीछे एक विरासत छोड़ जायेगी और इलाहाबाद में विभिन्न स्थलों एवं स्थानों की सौंदर्य बोधात्मक मूल्य में अत्यधिक वृद्धि कर देगी।

पेंट माई सिटी परियोजना निम्नलिखित स्तम्भों को (किन्तु यहां तक सीमित नहीं) सम्मिलित करेगी

  • उत्तर प्रदेश एवं इलाहाबाद की सांस्कृतिक विविधता एवं विरासत का कुम्भ
  • धाार्मक, आध्यात्मिक और वैज्ञानिक भावाबोध
  • कुम्भ की शास्त्रीय पृष्ठभूमि
  • सामाजिक जागरण संदेश एवं सार्वजनिक सेवा संदेश