गतिविधियाँ

आगामी गतिविधियां

21 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

22 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

23 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

24 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

25 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

अक्षयवट मंच -सेक्टर 4, मेला क्षेत्र ( सायं 5:30 सें रात्रि 9:30 बजे तक )

क्रम.सं. प्रस्तुति कलाकार कहाँ से
1. सूफी गायन श्री यज्ञ नारायण एण्ड पार्टी प्रयागराज
2. बिरहा श्री ओम प्रकाश पटेल प्रयागराज
3. क्लारनेट वादन श्री पवन धानुक मेरठ

ऋषि भारद्वाज मंच- सेक्टर 6, मेला क्षेत्र ( सायं 5:30 सें रात्रि 9:30 बजे तक )

क्रम.सं प्रस्तुति कलाकार कहाँ से
1. बुन्देली लोकनृत्य सुश्री अर्चना कोटर्य झांसी
2. भोजपुरी लोकगायन सुश्री प्रिया पाल लखनऊ
3. कठपुतली श्री शिवकुमार श्रीवास्तव प्रतापगढ़

यमुना मंच- सेक्टर 17, मेला क्षेत्र ( सायं 5:30 सें रात्रि 9:30 बजे तक )

क्रम.सं प्रस्तुति कलाकार कहाँ से
1. लोकवृंद सृजन लखनऊ
2. लोक गायन सुश्री नूरजहां महराजगंज
3. बिरहा श्री मन्ना लाल यादव वाराणसी

सरस्वती मंच- सेक्टर 13, मेला क्षेत्र ( सायं 5:30 सें रात्रि 9:30 बजे तक )

क्रम.सं प्रस्तुति कलाकार कहाँ से
1. कवि सम्मेलन गजेन्द्र प्रियांशु, आचार्य देवेन्द्र देव, कुमार ललित उत्तर प्रदेश

ससांस्कृतिक प्रस्तुति स्टेज स्टेज 2 : संस्कृति कुम्भ, शिफ्ट 2 - 6:30 बजे से 9:30 बजे तक

क्रम सं० प्रस्तुति कलाकार
1. गायन विदूषी अश्विनी भिड़े
2. कठपुतली प्रस्तुति पं. पुष्पराज कोष्टी

और पढ़ें

26 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

27 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

28 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

1 मार्च 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

2 मार्च 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

3 मार्च 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

4 मार्च 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

पूर्व गतिविधियां

20 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

१९ फरवरी २०१९
माघ मास की पूर्णिमा माघी पूर्णिमा तो है ही पर यह देवताओं के गुरू बृहस्पति का आवाहन पर्व भी है । इस दिन का महत्व इसलिए है कि देव लोक से देव, गंधर्व सभी स्नानार्थ पृथ्वी पर उतरते हैं ताकि मनुष्य सशरीर स्वर्ग की यात्रा कर पाता है ।

और पढ़ें

18 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये

और पढ़ें

17 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

16 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

15 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

14 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

13 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

12 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

11 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

१० फरवरी २०१९

विद्या की देवी सरस्वती के अवतरण और आवाहन का यह पर्व ऋतु परिवर्तन का संकेत भी है । अंतिम शाही स्नान इसी दिन होने की वजह से संगम तट की छटा देखते ही बनती है । कल्पवासी बसंत पंचमी के दिन खासतौर से श्वेत वस्त्रों की जगह पीत वस्त्र धारण करते हैं ।

और पढ़ें

9 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

8 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

7 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

6 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

5 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

०४ फरवरी २०१९

वैसे तो सोमवार और अमावस का योग श्रेष्ठ होता है पर इस दिन समस्त तीर्थ, कपिलधारा, गंगा, पुष्कर, दिव्य अंतरिक्ष और भूमि के सभी तीर्थ एक साथ रहते हैं, ऐसी मान्यता है इस समय किये गये श्राद्ध व स्नान पुण्यकारी माने गये हैं । इसी दिन प्रथम तीर्थकर ऋषभ देव ने अपनी लंबी तपस्या का मौन व्रत तोड़ा था और यही संगम तट पर अपने हजारों अनुयायियों व अयोध्या राजय के बंधु-बांधवों के साथ गंगा स्नान किया था । इस वजह से भी अर्द्धकुम्भ में सबसे अधिक भीड़ इसी स्नान पर्व पर होती है ।

और पढ़ें

3 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

2 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

1 फ़रवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

31 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

30 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

29 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

28 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

27 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

26 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

25 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

24 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुत्फ उठाये।

और पढ़ें

23 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

22 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

२१ जनवरी २०१९

भारतीय मासों के शुक्ल पक्ष की 15वीं तिथि को पूर्णिमा कहते हैं । पूर्णिमा को ही पूर्ण चन्द्र होता है । और अर्द्धकुम्भ की शुरूआत इसी स्नान पर्व के साथ होती है । इस दिन संगम पर बड़ी संख्या में लोग स्नान करते हैं और मेला क्षेत्र की आवाजाही बढ़ जाती है । कल्पावासी अपने डेरों में कल्पवास शुरू कर देते है ।

और पढ़ें

21 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

20 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

19 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

18 जनवरी 2019
संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

17 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

स्टेज 1 : संस्कृति कुम्भ, शिफ्ट 1 - 2:00 बजे से 5:00 बजे तक

क्रम सं० प्रस्तुति कलाकार कहाँ से समय
1 बीन जोगी श्री पाली नाथ हरियाणा 2:00 बजे, 2:20 बजे तक
2 बाजीगर श्री बावा सिंह पंजाब 2:20 बजे, 2:40 बजे तक
3 नाचर श्री करम सिंह पंजाब 2:40 बजे, 3:00 बजे तक
4 नगाड़ा/बनचारी श्री भूदेव हरियाणा 3:00 बजे, 3:20 बजे तक
5 स्वच्छ भारत पर आधारित नुक्कड़ नाटक श्री मुकेश शर्मा प्रयागराज, उ.प्र. 3:20 बजे, 3:35 बजे तक
6 भांड पाथर एवं बच्चा नगमा श्री गुलाम अहमद जम्मू एवं कश्मीर 3:35 बजे, 4:00 बजे तक
7 गीतरू-डोगरी लोकनृत्य श्री रमालो राम जम्मू एवं कश्मीर 4:00 बजे, 4:30 बजे तक
8 सांग श्री मदन लाल हरियाणा 4:30 बजे, 5:00 बजे तक

स्टेज 1 : संस्कृति कुम्भ, शिफ्ट 2 - 6:00 बजे से 9:00 बजे तक

क्रम सं० प्रस्तुति कलाकार कहाँ से समय
9 संस्कृत बैंड ध्रुवा- दी संस्कृत बैंड 7:00 बजे, 7:50 बजे तक
10 डोगरी नृत्य सुश्री नीता आदर्श जम्मू एवं कश्मीर 7:50 बजे, 8:00 बजे तक
11 रउफ नृत्य श्री गुलजार अहमद भट जम्मू एवं कश्मीर 8:00 बजे, 8:10 बजे तक
12 हिमांचली नटी श्री जिया लाल हिमांचल प्रदेश 8:10 बजे, 8:20 बजे तक
13 भांगड़ा/जिंदुआ श्री जोतदीप सिंह पंजाब 8:20 बजे, 8:30 बजे तक
14 घूमर/फाग श्री सुनील कौशिक हरियाणा 8:30 बजे, 8:40 बजे तक
15 घसियारी नृत्य श्री नत्थी लाल उत्तराखंड 8:40 बजे, 8:50 बजे तक
16 चकरी नृत्य श्री रूप सिंह राजस्थान 8:50 बजे, 9:00 बजे तक

स्टेज 2 : प्रस्तुति शास्त्रीय प्रदर्शन मंच, शिफ्ट 1 - 4:00 बजे से 5:00 बजे तक

क्रम सं० प्रस्तुति प्रस्तुतकर्ता
1 ‘सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह पर नृत्य नाटिका' सी॰सी॰आर॰टी॰ के छात्रवृत्ति धारक

स्टेज 2 : प्रस्तुति शास्त्रीय प्रदर्शन मंच, शिफ्ट 2 - 6:30 बजे से 9:30 बजे तक

क्रम सं० प्रस्तुति प्रस्तुतकर्ता
1 बाँसुरी वादन पं० हरी प्रसाद चौरसिया
2 गायन पं० उल्हास कशालकर

सांस्कृतिक प्रस्तुति स्टेज

स्टेज 1 : संस्कृति कुम्भ, शिफ्ट 1 - 2:00 बजे से 5:00 बजे तक

क्रम सं० प्रस्तुति कलाकार
1. बाँसुरी वादन पं० हरी प्रसाद चौरसिया
2. गायन पं० उल्हास कशालकर

और पढ़ें

१५ जनवरी २०१९

एक राशि से दूसरी राशि में सूर्य के संक्रमण को ही संक्रान्ति कहते हैं । भारतीय ज्योतिष के अनुसार बारह राशियां मानी गयी हैं- मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुम्भ और मीन, जनवरी महीने में प्रायः 14 तारीख को जब सूर्य धनु राशि से (दक्षिणायन) मकर राशि में प्रवेश कर उत्तरायण होता है तो मकरसंक्रांति मनायी जाती है । लोग व्रत स्नान के बाद अपनी क्षमता के अनुसार कुछ न कुछ दान अवश्य करते हैं ।

और पढ़ें

13 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

12 जनवरी 2019
संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

11 जनवरी 2019

संस्कृति कुम्भ के शुभारंभ के अवसर पर मनोरंजन से भरें लोक और सांस्कृतिक प्रस्तुतियों सहित शास्त्रीय संगीत का लुफ़्त उठाये।

और पढ़ें

10 जनवरी 2019

17 लोक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों, 1 शास्त्रीय कार्यक्रम एवं संस्कृति कुम्भ के शुभारम्भ कार्यक्रम का आनन्द लें।

और पढ़ें

11 दिसम्बर 2018
कुम्भ मेला प्राधिकरण, स्वास्थ्य विभाग एवं स्वच्छ भारत मिशन की जनपद स्तरीय टीम द्वारा दिया गया स्वच्छाग्रहियों को एक विशेष प्रशिक्षण कुम्भ मेला प्राधिकरण द्वारा दिनांक 10 दिसम्बर को स्वच्छ भारत मिशन, ग्रामीण के अर्न्तगत कार्यरत स्वच्छाग्रहियों को दिया गया एक विशेष प्रशिक्षण।

और पढ़ें

19 नवम्बर 2018
कुम्भ मेला प्राधिकरण द्वारा मनाया गया विश्व शौचालय दिवस कुम्भ भी स्वच्छ रखेंगे, देश भीश् की शपथ लेते हुए प्रारम्भ हुआ विश्व शौचालय दिवस का समारोह। कुम्भ मेला प्राधिकरण द्वारा विश्व शौचालय दिवस के अवसर पर दिनांक 19 नवम्बर 2018 को त्रिवेणी संगम के किनारे बसे किला घाट पर स्वच्छता सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को शौचालय के प्रति जागरुक करना एवं उसके प्रयोग करने के लाभों के बारे बताना रहा। आयोजित समारोह मेंमेला प्राधिकरण एवं स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम, जल विभाग, पी0 डब्ल्यू0 डी0, एवं स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के समन्वय से कुल 1000 लोग रहे जिसमें से लगभग 200 स्वच्छाग्रहियों, 800 सफाई कर्मचारी, एवं 100 वेन्डर्स द्वारा विभिन्न गतिविधियों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया गया।

और पढ़ें

16 नवम्बर 2018
प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने विश्वविद्यालय के प्रोफेसरो एवं छात्रों के साथ अलाहाबाद विश्वविद्यालय में संवाद स्थापित किया। प्रयागराज मेला प्राधिकरण के द्वारा छात्र एवं अध्यापक समुदायों को कुम्भ मेला-2019 के दौरान तीर्थयात्रियों एवं दर्शकों - पर्यटकों का स्वागत करने हेतु बड़े पैमाने पर जागरूकता का प्रसार करने के लिए सहभागी बनाने के लिये आरम्भ की गयी सामुदायिक सहभागिता कार्यक्रम का एक भाग था।

और पढ़ें

25 अक्टूबर 2018
इस वर्ष कुम्भ मेले के आयोजन की तैयारियों में लगी मेला प्राधिकरण की टीम द्वारा कुम्भ मेले को स्वच्छ व स्वस्थ बनाने के लिए बड़ी ही जोर शोर से तैयारियां की जा रही हैं। मेला प्राधिकरण श्रद्धालुओं के लिए पर्याप्त मात्रा में शौचालयों के निर्माण एवं कूड़े कचरे की उचित व्यवस्था के लिए कार्यरत है। साथ ही मेला प्राधिकरण कई नवीन योजनाओं एवं तकनीकों के माध्यम से स्वच्छता की अभिनव व्यवस्थाएं प्रदान कराने और समय समय पर इनकी भलीभातिं देख रेख करते रहने का भी प्रबंधन कर रहा है।

और पढ़ें

16 अक्टूबर 2018
इस वर्ष कुम्भ मेले के आयोजन की तैयारियों में लगी मेला प्राधिकरण की टीम द्वारा कुम्भ मेले को स्वच्छ व स्वस्थ बनाने के लिए बड़ी ही जोर शोर से तैयारियां की जा रही हैं। मेला प्राधिकरण श्रद्धालुओं के लिए पर्याप्त मात्रा में शौचालयों के निर्माण एवं कूड़े कचरे की उचित व्यवस्था के लिए कार्यरत है। साथ ही मेला प्राधिकरण कई नवीन योजनाओं एवं तकनीकों के माध्यम से स्वच्छता की अभिनव व्यवस्थाएं प्रदान कराने और समय समय पर इनकी भलीभातिं देख रेख करते रहने का भी प्रबंधन कर रहा है।

और पढ़ें

09 अक्टूबर 2018
इलाहाबाद में 'पेन्ट माई सिटी' अभियान हेतु प्रयागराज मेला प्राधिकरण द्वारा ‘पेन्ट फॉर प्रयाग‘ कार्यक्रम का आयोजन मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज, जार्जटाउन, इलाहाबाद में किया गया।

और पढ़ें